भारतीय अमेरिका मूल के राष्ट्रपति उम्मीदवार विवेक रामास्वामी कौन है जानिए ?

अमेरिका के राष्ट्रपति उम्मीदवार विवेक रामास्वामी वर्तमान में दौड़ से बाहर हो चुके हैं, इसलिए वे राष्ट्रपति नहीं बनेंगे। हालांकि, यह महत्वपूर्ण है कि उनके बारे में जानकारी हो क्योंकि वह भारतीय मूल के पहले प्रत्याशियों में से एक थे जिन्होंने रिपब्लिकन पार्टी से अमेरिकी राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवारी जाहिर की थी।

विवेक रामास्वामी एक युवा उद्यमी और विचारक हैं। उनका जन्म अमेरिका में भारतीय माता-पिता के यहाँ हुआ था। उन्होंने हार्वर्ड विश्वविद्यालय से जीव विज्ञान में स्नातक और येल लॉ स्कूल से कानून की डिग्री ली है।

उन्होंने एक बायोटेक कंपनी की स्थापना की और वेंचर कैपिटलिस्ट के रूप में भी काम किया है।

रामास्वामी अपने अभियान में अमेरिका की संस्कृति और मूल्यों को संरक्षित करने और देश की आर्थिक स्वतंत्रता को बढ़ाने पर जोर देते थे। उन्होंने शिक्षा सुधार, नवाचार को बढ़ावा देने और सरकारी खर्च में कटौती करने जैसे मुद्दों पर बात की।

हालांकि, वह अपने कुछ विचारों के लिए आलोचनाओं का भी सामना करते थे।

हालांकि विवेक रामास्वामी ने राष्ट्रपति पद की दौड़ छोड़ दी है, लेकिन वह निश्चित रूप से भविष्य में अमेरिकी राजनीति में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।

उनका भारतीय मूल और युवा आयु उन्हें एक आकर्षक विकल्प बनाता है। यह देखना दिलचस्प होगा कि उनका भविष्य का राजनीतिक सफर कैसा होगा।

विवेक रामास्वामी कौन है ?

विवेक रामास्वामी, भारतीय मूल के रिपब्लिकन पार्टी के अमेरिकी नेता, वर्तमान में अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के लिए अपने प्रत्याशी पद की दावेदारी कर रहे हैं।

38 वर्षीय रामास्वामी का जन्म ओहायो Ohio में हुआ था, और उनके माता-पिता भारतीय आप्रवासी थे। उन्होंने हार्वर्ड विश्वविद्यालय से जीव विज्ञान की डिग्री हासिल की और फिर येल लॉ स्कूल से अपनी पढ़ाई पूरी की।

रामास्वामी ने हेज फंड निवेशक के रूप में काम किया और येल से स्नातक होने से पहले ही उन्होंने कई मिलियन डॉलर कमा लिए थे। 2014 में, उन्होंने अपनी बायोटेक कंपनी, ‘रोइवंट साइंसेज’ (ROIV.O) की स्थापना की,

जिसने उन दवाओं के लिए पेटेंट खरीदे, जो अभी तक पूरी तरह से विकसित नहीं की गई थीं। उन्होंने 2021 में सीईओ पद से इस्तीफा दे दिया, लेकिन 2023 तक उन्होंने इसके अध्यक्ष के रूप में रहा।

वर्ष 2022 में, रामास्वामी ने स्ट्राइव एसेट मैनेजमेंट के को-फाउंडर भी थे। फरवरी 2023 में, उन्होंने 2024 के राष्ट्रपति चुनाव के लिए रिपब्लिकन पार्टी के नामांकन के लिए अपनी उम्मीदवारी की घोषणा की है।

सबसे ज्यादा मिले वोट 

इसके अलावा, भारतीय-अमेरिकी उद्यमी विवेक रामास्वामी ने न केवल लोकप्रियता को बढ़ावा दिया है बल्कि आर्थिक रूप से भी उन्हें फायदा हुआ है। वास्तविकता में, रामास्वामी ने बहस के बाद 450,000 अमेरिकी डॉलर से अधिक जमा किए हैं।

एक सर्वे के अनुसार, जिसमें 504 लोग शामिल थे, 28 प्रतिशत ने बताया कि रामास्वामी ने सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है। उनके पीछे, 27 प्रतिशत लोगों ने फ्लोरिडा के गवर्नर रॉन डेसेंटिस को और 13 प्रतिशत ने पेंस को सबसे अच्छा माना।

यह ध्यान देने योग्य है कि उद्यमी से राजनेता बने रामास्वामी को उनके तीन प्रमुख प्रतिद्वंद्वियों – न्यू जर्सी के पूर्व गवर्नर क्रिस क्रिस्टीज़, पूर्व उपराष्ट्रपति माइक पेंस, और दक्षिण कैरोलिना की गवर्नर निक्की हेली से – कड़ी टक्कर मिल रही है।”

Read More : APPLE’S VISION PRO IS READY TO LAUNCH ON FEBRUARY 2

Google layoffs Faces Employee Backlash After “Needless” Job Cuts Impact Hundreds

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *